मसीह गीत


सूली

 

अभि अब्ब तैं इख कुछ ही मसीह गीत सूनणु कू मिलला, मगर जल्द ही तुमतै भौत सरा गीत देखणु कू मिलला।