प्रार्थना निवेदन


प्रार्थना निवेदन

 

 

मेरा भै-बैणों, अगर तुम परेसान छाँ, या कै बात से दुखित छाँ, या तुम अपणी बात कै तैं नि बतै सकद्‍या, अर तुम चन्‍द्‍यां, कि तुम खुणि प्रार्थना किये जौ,

त तुम हम बटि सम्पर्क कैरी सकद्‍यां, ताकि तुम खुणि प्रार्थना किये जौ। इन करणु खुणि तुमतैं मूड़ी दियां फोरम तैं भोरी के भेजण होलु।